घर में खाने को नहीं थी रोटी, पिता ने ठेला चलाकर बेटी को बनाया टीचर, अमिताभ ने किया सलाम

109
Banner

3 सिंतबर से कौन बनेगा करोड़पति के 10वें सीजन की शुरुआत हो चुकी है। हर बार की तरह इस बार भी शो में नए प्रत‍ियोगी द‍िलचस्प कहान‍ियां और प्रेरणा देने वाले किस्सों के साथ मौजूद हैं।

केबीसी में आज दिखेगा एक टीचर का संघर्षों भरा जिंदगी

इस कंटेस्टेंट के गरीब पिता के संघर्षों की कहानी सुनकर अमिताभ बच्चन भी भावुक हो गए और अदब से उनके पिता को सलाम करते हैं। हाल ही में केबीसी 10 का एक नया प्रोमो जारी किया गया है, ज‍िसमें तीसरे कंटेस्टेंट की कहानी को द‍िखाया गया है। इसकी शुरुआत अमिताभ बच्चन की आवाज से होती है, वो कहते हैं, “गांधी जी ने कहा था आप एक पुरुष को श‍िक्ष‍ित करेंगे तो एक इंसान श‍िक्ष‍ित होगा, लेकिन आप एक बेटी को श‍िक्ष‍ित करोगे तो पूरा पर‍िवार श‍िक्षित होगा।” ऐसी ही कहानी है हमारे नए कंटेस्टेंट की।

अमिताभ उस कंटेस्टेंट का स्वागत करते हैं। जिसके बाद कंटेस्टेंट खुद अपनी जुबानी अपने पिता के संघर्षों की कहानी सबके सामने बयां करती हैं। शो के दौरान उन्होंने बताया कि एक वक्त हमारे घर के हालात ऐसे थे कि घर में खाने को एक रोटी भी नहीं होती थी, फिर मेरे पापा ने सोचा चलो ठेला चलाते हैं।

पिता ने ठेला चलाकर बेटी को पढ़ाया, बनी टीचर

शो में द‍िखाए गए वीड‍ियो में कंटेस्टेंट के प‍िता बताते हैं ‘मुझे पढ़ाई का बहुत शौक था, लेकिन मेरे हालात ऐसे थे कि पढ़ाई पूरी नहीं कर सका। इसल‍िए अपनी बेटी को कैसे भी ज‍िद करके पढ़ाया। तुम ज‍ितना पढ़ना चाहती हो पढ़ो।’ उस गरीब शख्स की मेहनत और बुलंद इरादों का ये नतीजा है कि आज उसकी बेटी फिज‍िकल एजुकेशन की टीचर है। पिता की मेहनत की बदौलत आज उनकी बेटी फिज‍िकल एजुकेशन में पीएचडी पूरी कर चुकी हैं। वो खुद ज‍िमनास्ट‍ भी हैं।

अमिताभ ने पिता को किया सलाम

वहीं, कंटेस्टेंट की इस कहानी को सुनकर अभिताभ भी भावुक हो जाते हैं। शो के दौरान वे कंटेस्टेंट के प‍िता से कहते हैं, “बाबू जी आपको प्रणाम करता हूं। आप बहुत बड़े उदाहरण हैं देश के लिए, ये जो सोच है उसे पूरे देश में फैलाने की जरूरत है। ये सोच और प्रबल होनी चाह‍िए। आपकी बेटी खुद ही ज‍िमनास्ट‍िक भी करती है, ये देश की बहुत बड़ी उपलब्धि है। इसके बाद उन्होंने कंटेस्टेंट से कहा कि आपने हमारे शो की टैगलाइन को साब‍ित कर द‍िया। कब तक रोकोगे।